शहीदों के बॉडी पार्ट्स की फर्जी तस्वीरें न करें शेयर, दिखे तो रिपोर्ट करें: CRPF


 

केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) ने एक एडवाइजरी जारी कर कहा कि कुछ शरारती तत्व पुलवामा आतंकी हमले के शहीदों के अंगों की फर्जी तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर कर रहे हैं.

सीआरपीएफ ने नफरत फैलाने और सौहार्द बिगाड़ने वाले ऐसे किसी भी सामग्री को रिपोर्ट करने को कहा है. सीआरपीएफ ने नफरत फैलाने और सौहार्द बिगाड़ने वाली ऐसी किसी भी सामग्री को रिपोर्ट करने को कहा है.

सीआरपीएफ ने अपनी एडवाइजरी में कहा है, “ऐसा देखा जा रहा है कि सोशल मीडिया पर कुछ शरारती तत्व नफरत फैलाने के लिए हमारे शहीदों के बॉडी पार्ट्स की फर्जी तस्वीरें फैला रहे हैं, जबकि हम एक साथ खड़े हैं. कृपया ऐसी तस्वीरें और पोस्ट को शेयर, लाइक या आगे न बढ़ाएं. ऐसे किसी भी सामग्री को [email protected] पर रिपोर्ट करें.”

इससे पहले सरकार ने मीडिया को सचेत किया था. आतंकी हमले की कवरेज का संज्ञान लेते हुए केंद्र सरकार ने निजी टीवी चैनलों को आगाह किया था.

सरकार की तरफ से सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले की पृष्ठभूमि में सभी टीवी चैनलों से ऐसी सामग्री पेश करने से बचने को कहा है, जिससे हिंसा भड़क सकती हो अथवा देश विरोधी रुख को बढ़ावा मिलता हो.

14 फरवरी को जम्‍मू-कश्‍मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकवादी हमला हुआ था जिसमें 40 जवान शहीद हो गए. पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद संगठन ने हमले की जिम्मेदारी ली है.


Big News